धर्म सिवनी

एशिया के सबसे ऊंचे मेघनाथ मेले में झूले 3 वीर, कोरोना काल में पांजरा मेला भीड़ रही नदारत

सिवनी। विकासखंड केवलारी अंतर्गत ग्राम पंचायत पांजरा में सोमवार धुरेण्डी के दिन एशिया के सबसे ऊँचे मेघनाद मेले में 3 वीर झूले। लगभग 60 फिट ऊंचे मेघनाथ मेले में हर साल जहाँ हजारों की संख्या में लोग पहुँचे थे इस बार कोरोना काल मे काफी कम लोगों की मौजूदगी में अलग अलग गांव से आये 3 वीर ने झूला। रोमांच से भरे इस मेघनाथ मेले में वीर को एक खड़े लकड़ी में खूंटी के सहारे ऊपर बनाई गई मचान पर ले जाकर उल्टा लटकाकर घुमाया जाता है।

आदिवासी परंपरा के अनुसार जिन लोगों की मान्यता पूरी हो जाती है ऐसे वीर गांव से ही हकररे बिररे कहते हुए पांजरा गांव स्थित 60 फुट ऊँचे मेघनाथ में अपनी मान्यताओं के अनुसार उल्टे लटक कर झूलते है। भाव उतरने के बाद उन्हें सावधानी से नीचे उतारा जाता है।

धुरेण्डी के दिन जहाँ हर जगह रंग गुलाल की जमकर होली होती है यहां मेले में लोग होली नही खेलते है। पांजरा समेत आसपास के अनेक गांव में लोग धुरेण्डी के दूसरे दिन होली खेलते हैं।

गोंड समाज महासभा मप्र सर्किल कमेटी ढुटेरा पांजरा के अध्यक्ष कमल सिंह परते (पाथरफोडी) ने बताया कि रविवार को मेघनाथ मेले में की जाने वाली भूमका पूजा उनके द्वारा किया गया। वही कार्यवाहक अध्यक्ष तुलसीराम भलावी सरपंच पाथरफोड़ी, कार्यवाहक अध्यक्ष संजू अरेवा सरपंच ढुटेरा ने बताया कि मेघनाथ मेला के दिन पांजरा में बड़ी संख्या में लोग उपस्थित होते थे। यहां भरने वाले मेले में बड़ी संख्या में छोटे-बड़े व्यापारी अपनी दुकान संचालित करते थे। मेला में पहुंचने वाले लोग खरीदी करते थे साथ ही यहां धुरेण्डी के दिन एक दूसरे को कोई भी ना तो रंग गुलाल लगाता है और ना ही किसी प्रकार की होली मनाई जाती है। इस बार कोरोना काल के चलते काफी सादे ढंग से मेघनाथ की पूजा की गई। मान्यता के अनुसार मेघनाथ का जिन्हें भेंट करना था उन्होंने भेंट किया, और जिन्हें ऊपर चढ़कर झूलना था उन्होंने अपनी मान्यता के अनुसार उतने चक्कर झूले। रविवार को गांव खापा, ढुटेरा व एक अन्य गांव से आए 3 वीरों ने मेघनाथ के उच्च शिखर में चढ़कर अपनी मान्यता के अनुसार झूले। वही ग्राम पंचायत पांजरा निवासी ब्रजमोहन तिवारी ने बताया कि कोविड-19 के नियमों का यहां पालन करते हुए लोगों ने शांतिपूर्ण ढंग से मेघनाथ मेले में परंपरागत रूप से की जाने वाली पूजन पाठ किया व तीन वीरों ने झूला। मेले में लगने वाली दुकानें भी इस बार नहीं लगी। साथ ही आसपास के कई गांव व अन्य जिलों समेत महानगरों व अन्य राज्यों से आने वाले लोग भी इस बार मेघनाथ मेले में नहीं पहुंच पाए।

पांजरा निवासी ब्रजमोहन तिवारी
गोंड समाज महासभा मप्र सर्किल कमेटी ढुटेरा पांजरा के अध्यक्ष कमल सिंह परते (पाथरफोडी)
खापा गांव की महिला वीर मेघनाद झूलने जाती हुई।
पूजन करते हुए श्रद्धालुजन
गोंड समाज महासभा मप्र सर्किल कमेटी ढुटेरा पांजरा के पदाधिकारीगण
मेघनाद में झूलती गांव ढुटेरा से आई महिला वीर

— — — — — — — — — — — — — — — — — — — — —  ताजासमाचार पढ़ने के लिए न्यूज के नीचे दिए गए वाट्सएफ जवाइन निर्देश बॉक्स में दो बार क्लिक कर ग्रुप में ज्वाइन हो सकते हैं, या 94 2462 9494 सेव कर ज्वाइन की लिंक मांग सकते हैं। संतोष दुबे सिवनी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *